इंसान के दिमाग में जोड़ा जाएगा कंप्यूटर कनेक्शन

दुनिया की सबसे मशहूर कंपनियों में से एक टेस्ला के चीफ एग्जिक्युटिव और स्पेस X के संस्थापक एलन मस्क एक नई योजना की घोषणा की है। इस योजना के अनुसार इंसानों के दिमाग में कंप्यूटर चिप को इंस्टॉल किया जाएगा। इससे लोगों की मदद की जा सकेगी। इस चिप का इस्तेमाल इंसानों में सुपरह्यूमन इंटेलिजेंस को इनेबल करने के लिए किया जाएगा।

दो वर्ष पहले एलन मस्क ने न्यूरालिंक नाम की एक सिक्रेटिव कंपनी लॉन्च की थी। अब कंपनी ने ब्रेन कंप्यूटर इंटरफेस तकनीक की टेस्टिंग शुरू कर दी है। एलन का कहना है कि यह डिवाइस उन लकवाग्रस्त लोगों के लिए मददागर साबित होगी जो न्यूरोलॉजिकल विकार से ग्रस्त हैं। कंपनी का मानना है कि इस तकनीक के जरिए हर तरह के मानसिक विकारों को ठीक कर पाना संभव होगा।

इस चिप को कंपनी ने चूहों और बंदरों पर टेस्ट किया था। जैसे ही यह टेस्टिंग पूरी हो जाती है तो उसे लॉन्च किए जाने के बारे में सोचा जाएगा। यह चिप 4x4mm की होगी। यह कई हजारों माइक्रोस्कोपिक थ्रेड से कनेक्टेड होगी। इस चिप को इंसानों के दिमाग में ड्रिल करके 4 छेदों के जरिए इम्प्लांट किया जाएगा। इन थ्रेड्स के इलेक्ट्रॉड्स न्यूरल स्पाइक्स को मॉनिटर करने में सक्षम होंगे। ये इलेक्ट्रॉड्स ना सिर्फ इंसानों के दिमाग को पूरी तरह से जान पाएंगे बल्कि उनके व्यवहार में आने-वाले उतार-चढ़ाव को भी समझ पाएंगे। यह फीड यूजर की स्मार्टफोन ऐप में स्टोर किए जाएंगे। एलन का कहना है कि यह तकनीक चिप के जरिए इंसानी दिमाग को कंप्यूटर से जोड़ पाएंगे।

इस तकनीक का नाम न्यूरालिंक है। यह दिमाग में पतले थ्रेड्स के जरिए इलेक्ट्रॉड्स इम्प्लांट करने से संबंधित हैं। यह चिप और वायर के जरिए दिमागी स्कीन में संबंधित होंगे। इस चिप को पॉड से कनेक्ट किया जाएगा। यह रिमूवेबल होंगे। इन्हें कान के पीछे लगाया जएगा। इसे बिना तार के दूसरे डिवाइस से कनेक्ट किया जाएगा। इसके जरिए मस्तिष्क के अंदर की जानकारी डायरेक्टिली स्मार्टफोन या फिर कंप्यूटर में स्टोर की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *