प्रदेश में भर्ष्टाचार करने वालों की अब खैर नहीं , सी ऍम त्रिवेंद्र रावत

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने कहा कि भ्रष्टाचार करने वालों की अब खैर नहीं उन्हें अब सलामती के तौर पर बक्शा नहीं जायेगा परदेश में भ्रष्टाचार फ़ैलाने वालों का कड़ी सजा मिलेगी सरकार का कहना है की अब हम भ्रष्टाचार के खिलाफ कड़ा कानून लाने जा रही है। स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर उत्तराखंड की जनता के नाम संदेश में उन्होंने स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों, देश की रक्षा में सर्वोच्च बलिदान देने वाले जवानों और उत्तराखंड राज्य निर्माण के अमर शहीदों को नमन किया। मुख्यमंत्री ने कहा, सरकार अपने दायित्वों के प्रति लापरवाह अफसर और कर्मचारियों को चिह्नित कर अनिवार्य सेवानिवृत्ति देगी। सरकार ने आउटकम आधारित डिलीवरी सुनिश्चित करने के लिए सीएम डैशबोर्ड ‘उत्कर्ष’ बनाया है। त्रिवेंद्र रावत बोले, जम्मू-कश्मीर भी अब विकास की मुख्य धारा में शामिल होगा। वहां के भाई-बहनों को 370 से आजादी मिल गई है। उन्होंने कहा, स्कूलों को स्मार्ट बनाने का प्रयास जारी है। इंटर कॉलेजों में 859 प्रवक्ता भर्ती की गई है। महाविद्यालयों में 877 असिस्टेंट प्रोफेसर की भर्ती प्रक्रिया जारी है। आयोगों से पांच हजार पदों पर यह प्रक्रिया चल रही है। युवाओं के लिए स्टार्ट अप पॉलिसी लागू है। 2020 तक 200 स्टार्टअप शुरू होंगे। 80 हजार को रोजगार: मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार के अब तक के कार्यकाल में 11 हजार से अधिक छोटे बड़े 11 हजार उद्योग स्थापित हो चुके हैं। यहां लगभग 80 हजार रोजगार मिले। इंवेस्टर्स समिट के सिर्फ 10 माह में ही 16 हजार करोड़ से अधिक का निवेश हुआ है, जिससे 40 हजार लोगों को रोजगार मिलने की संभावना है।

मुख्यमंत्री बोले, केंद्र की मदद से उत्तराखंड की संयोजकता में काफी सुधार हुआ है। ऑलवेदर और भारतमाला योजना पर तेजी से काम चल रहा है। डोबरा-चांठी झूलापुल का काम अगले साल मार्च में पूरा कर लिया जाएगा। देवबंद-रुड़की रेल मार्ग राज्य के विकास को गति देगा। नैनी-दून एक्सप्रेस की शुरुआत हो चुकी है। देहरादून देश के 23 शहरों से हवाई सेवा के माध्यम से जुड़ चुका है।

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *