चिकित्सा अधीक्षक के बयान से भडके मृतक के परिजन, अस्पताल में किया हंगामा

देहरादून के दून अस्पताल में भर्ती युवक की इलाज के दौरान मौत हो गई। परिजनों का आरोप है गलत इंजेक्शन लगाने से युवक की मौत हुई है। जबकि डॉक्टरों ने आरोपों को निराधार बताया। शुक्रवार के बाद शनिवार को भी परिजन अस्पताल पहुंच गए और हंगामा करने लगे, मौके पर पहुंची पुलिस और अस्पताल के सुरक्षाकर्मियों ने स्थिति पर काबू पाया। चिकित्सा अधीक्षक डॉ. केके टम्टा ने अपने बयान में कहा था कि शराब के अत्यधिक सेवन से रेवती रमन के लीवर खराब हो चुका था। इस कारण  उसकी मौत हो गई। जिस पर पुलिस कुछ लोगों के गिरफ्तार कर थाने ले गई है। मुकदमा दर्ज करने की तैयारी की जा रही है। किशन नगर, सैयद मोहल्ला निवासी रेवती रमन (25 साल) पुत्र ओमप्रकाश की बृहस्पतिवार रात उल्टी-दस्त होने से अचानक तबियत बिगड़ गई। परिजन आनन-फानन में उसे लेकर दून अस्पताल पहुंचे। यहां इलाज मिलने पर रमन को काफी आराम मिला। लेकिन तड़के ढाई बजे फिर उसकी तबियत खराब हो गई। डॉक्टरों ने उसे एक इंजेक्शन लगाने के साथ ही परिजनों को दिलासा दिया कि तबियत जल्द ठीक हो जाएगी। लेकिन सुबह पांच बजे रेवती रमन की मौत हो गई। सूचना पर परिजन और रिश्तेदार मौके पर जमा हो गए और उन्होंने गलत इंजेक्शन लगाने और इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए अस्पताल में हंगामा कर दिया। इसी बीच मौके पर पहुंची पुलिस और सुरक्षाकर्मियों ने परिजनों को शांत कराया। उसके बाद परिजन और रिश्तेदार शव लेकर चले गए।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *