दोषियों को फांसी के फंदे तक पहुंचाने के लिये अनुगमन करेगी सरकार : डा. हरक रावत

कैबिनेट मंत्री डा. हरक सिंह रावत ने दस वर्षीय बच्ची से दुष्कर्म के बाद हत्या के मामले में दुख जताते हुए कहा कि सरकार दोषियों को फांसी के फंदे तक पहुंचाने की पुरजोर पैरवी करेगी। पूरे देश के लिए घटना को शर्मनाक बताते हुए कहा कि सरकार की ओर से पीड़ित परिवार की हरंसभव सहायता की जायेगी।कोटद्वार पहुंचे स्थानीय विधायक और कैबिनेट मंत्री डा. हरक सिंह रावत ने गुरुवार को अपने आवास पर अधिकारियों की बैठक लेते हुए निर्देश दिये कि इस तरह की घटना की पुनरावृत्ति भविष्य में न हो। उन्होंने कहा कि नशे के खिलाफ लगातार अभियान चलायें और जो भी व्यक्ति इस कारोबार में लिप्त हो उसे किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाना चाहिये। कैबिनेट मंत्री डा. रावत ने कहा कि स्कूलों और सामूहिक मंचों पर जनजागरण कार्यक्रम शुरू किये जायें ताकि बच्चों को मानसिक विकृत्ति के लोगों की पहचान हो सके। बैठक में पूर्व जिला पंचायत उपाध्यक्ष सुमन कोटनाला, पूर्व प्रमुख भुवनेश खर्कवाल, एसडीएम योगेश मेहरा, एएसपी प्रदीप राय, सीओ जेआर जोशी उपस्थित रहे।इसके बाद, महिला उत्थान एवं बाल कल्याण संस्था की अध्यक्ष अनुकृति गुंसाई व पूर्व पालिका अध्यक्ष रश्मि राणा के नेतृत्व में जुलूस निकाला गया। बिटिया को इंसाफ दिलाने और शराब के विरोध में नारेबाजी करते हुए बुद्ध पार्क में एकत्र हुई महिलाओं को संबोधित करते हुए काबीना मंत्री डा. हरक सिंह रावत ने कहा कि यह घटना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है और महिलाओं को जागरूक होकर इस तरह की मानसिकता वाले लोगों का सामाजिक बहिष्कार करना चाहिये। इससे पूर्व महिलाओं की ओर से काबीना मंत्री को ज्ञापन भी सौंपा गया। इस दौरान दो मिनट का मौन धारण कर शोक व्यक्त किया गया। जुलूस प्रदर्शन में उमा नेगी, अनीता शर्मा, विनोद रावत, किरन काला, अभिलाषा भारद्वाज, उमेश त्रिपाठी, मनमोहन द्विवेदी, रानी नेगी, लीला कर्णवाल समेत कई महिलाएं उपस्थित रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *