सीएम त्रिवेंद्र रावत ने कहा सभी मंत्री ज्यादा से ज्यादा समय जनता को दें

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने कहा कि सभी मंत्री कार्यालय में भी रहें और उसके बाद आम जनता को भी अपना बहुमूल्य समय दें। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने गुरुवार को सचिवालय में मीडिया से महाकुंभ की तैयारियों और मंत्रियों के कामकाज पर बात की।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में मंत्रियों को नियमित रूप से कार्यालय में बैठने और जन समस्या के निस्तारण के काम करने के लिए कहा है। हरिद्वार महाकुंभ की तैयारी पर त्रिवेंद्र बोले, इसे भव्य रूप दिया जाएगा।

 मंत्रियों के दफ्तर सूने, कैंप ऑफिस गुलजार: मौजूदा समय में उत्तराखंड में मंत्रियों के विधानसभा स्थित दफ्तरों की अपेक्षा उनके घर के कैंप ऑफिस ज्यादा सक्रिय हैं। अलबत्ता, विधानसभा भवन में दफ्तर को ज्यादा वक्त देने वाले मंत्री सुबोध उनियाल आगे हैं। कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक का ज्यादा वक्त हरिद्वार और यशपाल आर्य का हल्द्वानी में बीतता है। हरक सिंह रावत, सतपाल महाराज, अरविंद पांडे समेत बाकी मंत्रियों की आमद भी ज्यादा नहीं। मंत्रियों के दफ्तर पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी के समय ही गुलजार रहे हैं। तिवारी सरकार में करीब करीब सभी मंत्री ज्यादातर विधानसभा स्थित अपने दफ्तर में रहते थे।


मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने कहा उत्तराखंड पर्यटन राज्य है। उत्तराखंड के पहाड़ी उत्पादों को पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बनाया जाएगा। यहां आने वाले पर्यटकों को पहाड़ी व्यंजन खूब अच्छे लगते हैं। इससे हमारे पहाड़ी उत्पादों को देश-दुनिया में पहचान मिलेगी। साथ ही पारंपरिक खेती के प्रति हमारे लोग प्रेरित होंगे। मुख्यमंत्री गुरुवार को राजपुर रोड पर सरस्वती जागृति महिला स्वयं सहायता समूह की ‘पहाड़ी रसोई’ के उद्घाटन अवसर पर पहुंचे । उन्होंने कहा कि यह प्रयास महिला सशक्तिकरण की भी मजबूत पहल है। महिला-पुरुष सशक्त होंगे तो समाज भी आगे बढ़ेगा। इस दौरान मेयर सुनील उनियाल गामा, विधायक खजानदास, मुख्यमंत्री के औद्योगिक सलाहकार केएस पंवार, अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी के साथ ही सरस्वती जागृति महिला स्वयं सहायता समूह की पूजा तोमर, सुषमा और शालिनी भी मौजूद रहीं।


नीति आयोग की बैठक में मुख्यमंत्री भी शामिल होंगे इस बैठक में उत्तराखंड से जुड़े विषयों पर विचार करेंगे मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत शनिवार को नई दिल्ली में प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में होने वाली नीति आयोग की पांचवीं गवरिनगं बॉडी की बैठक में शामिल होंगे। मुख्यमंत्री । इससे पहले मुख्यमंत्री ने इस बैठक से जुड़े कई विषयों पर वरिष्ठ अफसरों से विचार-विमर्श किया।


24 और 25 जून को दून में हो सकता है विस सत्र 
उत्तराखंड विधानसभा का मानसून सत्र 24 और 25 जून को आयोजित हो सकता है। इस बारे में विधायी विभाग ने प्रस्ताव तैयार कर लिया है। सूत्रों ने बताया कि दिवंगत वित्त मंत्री प्रकाश पंत को मानसून सत्र के दौरान श्रद्धांजलि देने के साथ ही विधायी कार्य भी होंगे। यह सत्र दून 
में होने के ज्यादा आसार हैं।

ब्लड बैंक प्रभारी हाॅ. वीके शर्मा ने बोला कि एक यूनिट खून देने से चार मरीजो की जान बचाई जा सकती हैैै। खून में प्लेटलेट्स, प्लॉज्मा, क्रायो प्रेस्पिटेड अलगकरते है जिससे अलग-अलग बीमारी से पीडित मरीजों चढ़ाया जाता है।ब्लड बैंक प्रभारी डॉ. वीके शर्मा ने यह जानकारी लोहिया अस्पताल में दी।सभी मरीजों की जरूरत अलग-अलग होती है।जिससे खून के कम्पोनेंट को अलग किया जाता है। एक यूनिट से चार तरह के कम्पोनेंट निकाले जाते हैं। उन्होंने कहा कि खून का कोई दूसरा विकल्प नहीं है। इसलिए रक्तदान करें। लोगों का जीवन बचा सकें।

रक्तदान करें, पांच हजार रुपये तक की जांचें मुफ्त में होंगी
 रक्तदान से पहले उसकी सेहत की जांच भी हो जाती है। रक्तदान से सिर्फ जरूरतमंद मरीज को ही फायदा नहीं है। रक्तदाता को भी फायदा है लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान में ब्लड एंड ट्रांसफ्यूजन मेडिसिन विभाग के अध्यक्ष डॉ. सुब्रत चन्द्रा ने गुरुवार को आयोजित कार्यक्रम में कहा कि खून देने से पहले ब्लड प्रेशर जांच जाता है। रक्तदाता का वजन लिया जाता है। हीमोग्लोबिन की जांच की जाती है। ब्लड ग्रुप का भी पता किया जाता है। दान किए गए खून की बाद में पांच तरह की जांचें होती हैं। इनमें एचआईवी, हेपेटाइटिस बी, सी, हीमोग्लोबिन और मलेरिया की जांच शामिल है। निजी पैथालॉजी में इन जांचों की कीमत कम से कम पांच हजार रुपये है। वहीं नेट टेस्ट कराने पर 15 हजार रुपये का खर्च आ सकता है।

लोहिया संस्थान के निदेशक डॉ. एके त्रिपाठी ने बताया कि रक्तदान को लेकर भ्रांतिया हंै। इन्हें दूर करने के लिए जागरूकता फैलाने की जरूरत है। 

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *