शिवसेना से गतिरोध खत्म करने के लिए बीजेपी का जोरदार पलटवार ,

अपना मुख्यमंत्री पद बचाने के लिए बीजेपी के दो वरिष्ठ मंत्रियों के मंत्रालयों की कुर्बानी देकर शिवसेना की नाराजगी दूर करने की योजना बना रहे हैं। पार्टी सूत्रों के मुताबिक, बीजेपी के अंदर यह चर्चा जोरों पर है। इस चर्चा को बल इसलिए भी मिला रहा है, क्योंकि फडणवीस ने रविवार को देर रात अपने घर पर बीजेपी कोर कमिटी की बैठक बुलाई। सूत्रों का कहना है कि कोर कमिटी की बैठक में राजस्व और वित्त मंत्रालय शिवसेना को ऑफर करने के बारे में विचार-विमर्श की पूरी संभावना है। सूत्रों का यह भी कहना है कि बीजेपी, शिवसेना को मुख्यमंत्री पद की जिद छोड़ने की एवज में मंत्री पदों के समान बंटवारे का ऑफर भी दे सकती है। इससे पहले बीजेपी के 26 मंत्री और शिवसेना के 13 मंत्री पद का ऑफर शिवसेना ठुकरा चुकी है।

वर्तमान सरकार में राजस्व मंत्रालय चंद्रकांत पाटील के पास और वित्त मंत्रालय सुधीर मुनगंटीवार के पास हैं। दोनों को पार्टी के भीतर मुख्यमंत्री मटीरियल माना जाता है। बता दें कि शिवसेना पहले ढाई साल के लिए मुख्यमंत्री पद के अलावा गृह, वित्त, राजस्व और नगर विकास जैसे महत्वपूर्ण मंत्रालयों के साथ सत्ता के समान बंटवारे की मांग पर अड़ी हुई है। इनमें से गृह और नगर विकास मंत्रालय खुद देवेंद्र फडणवीस के पास हैं। बीजेपी के अंदर यह भी चर्चा है कि अगर राजस्व और वित्त मंत्रालय शिवसेना को दिए गए, तो फिर देवेंद्र फडणवीस को चंद्रकांत पाटील और सुधीर मुनगंटीवार के लिए गृह और नगर विकास मंत्रालय छोड़ना पड़ सकते हैं। अगर वास्तव में ऐसा होता है, तो इसका सीधा असर यह होगा कि सरकार पर फडणवीस की पकड़ ढीली हो जाएगी। फिलहाल शिवसेना के रुख को देखते हुए यह भी नहीं कहा जा सकता कि शिवसेना राजस्व और वित्त मंत्रालय लेकर मुख्यमंत्री पद की अपनी मांग छोड़ देगी।


शिवसेना का 175 का दावा
बीजेपी पर दबाव बढ़ाते हुए शिवसेना की तरफ से सांसद संजय राउत ने रविवार को कहा कि अब अगर बीजेपी से बातचीत होगी, तो केवल मुख्यमंत्री पद को लेकर ही होगी। इसके अलावा राउत का दावा है कि शिवसेना के पास 170 से ज्यादा विधायकों का समर्थन है और यह आंकड़ा 175 तक जा सकता है।

अमित शाह से मिलने फडणवीस दिल्ली में
विसं, मुंबई: मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस सोमवार को अमित शाह से मिलने दिल्ली जा रहे हैं। जाहिर तौर पर सीएम के दिल्ली दौरे की वजह राज्य में बेमौसम बारिश से प्रभावित किसानों के लिए केंद्रीय सहायता की मांग बताया जा रहा है, लेकिन सूत्रों का कहना है कि मुख्यमंत्री अमित शाह के साथ शिवसेना के मुद्दे पर बात करने जा रहे हैं। पहले खबर थी कि सोमवार को अमित शाह मुंबई आने वाले हैं, लेकिन ऐन वक्त पर फडणवीस को ही दिल्ली बुला लिया गया है। सूत्रों का कहना है कि बुधवार तक बीजेपी-शिवसेना गतिरोध खत्म होने के आसार हैं। 8 नवंबर तक सरकार का गठन जरूरी है।

मित शाह से मिलने फडणवीस दिल्ली में
विसं, मुंबई: मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस सोमवार को अमित शाह से मिलने दिल्ली जा रहे हैं। जाहिर तौर पर सीएम के दिल्ली दौरे की वजह राज्य में बेमौसम बारिश से प्रभावित किसानों के लिए केंद्रीय सहायता की मांग बताया जा रहा है, लेकिन सूत्रों का कहना है कि मुख्यमंत्री अमित शाह के साथ शिवसेना के मुद्दे पर बात करने जा रहे हैं। पहले खबर थी कि सोमवार को अमित शाह मुंबई आने वाले हैं, लेकिन ऐन वक्त पर फडणवीस को ही दिल्ली बुला लिया गया है। सूत्रों का कहना है कि बुधवार तक बीजेपी-शिवसेना गतिरोध खत्म होने के आसार हैं। 8 नवंबर तक सरकार का गठन जरूरी है।


About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *