विहार में बाढ़ से अब तक 127 लोगों की मौत, पीएम ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से पूछे हाल

पिछले तीन हफ़्तों से बिहार बाढ़ की समस्या से जूझ रहा है बाढ़ से विहार के 13 जिले ग्रसित है और अब तक लगभग 127 लोगों की मौत हो चुकी है विहार की इस हालत को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को पहली बार इस साल के बाढ़ की समस्या पर राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी से बातचीत की. प्रधानमंत्री ने बिहार को अब हर संभव सहायता देने का दवा किया है यह जानकारी उन्होंने सोमवार शाम ख़ुद भी अपने ट्वीटर अकाउंट पर ट्वीट कर दी.  दरअसल इस मुद्दे पर जब विधानसभा सत्र चल रहा था तो विपक्ष ने कई बार यह कह कर सरकार को घेरने की कोशिश की कि आखिरकार क्या बात है कि इस बार ना ही प्रधानमंत्री और न ही कोई केंद्रीय मंत्री बाढ़ की स्थिति का जायज़ा लेने के लिए राज्य का दौरा कर रहा है और न ही अभी तक क्षति का आकलन करने के लिए कोई केंद्रीय टीम भेजी गई है

इस पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ख़ुद ही सदन में कहा था कि अभी तक केंद्र से उन्होंने केवल एनडीआरएफ की कंपनियां फ़ूड पैकेट बांटने के लिए हेलीकॉप्टर की सहायता मांगी है. लेकिन टीम का सवाल है तो वो राज्य सरकार की ओर से क्षतिपूर्ति का मेमोरेंडम देने के बाद ही केंद्रीय टीम राज्य का दौरा करेगी. लेकिन सोमवार को प्रधानमंत्री के ट्वीट के बाद से कहा जा रहा है कि इस साल 150 से अधिक लोगों की जान जाने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बाढ़ से जूझ रहे  बिहार की सुध आयी है.हालाँकि बताया जा रहा है कि पीएम मोदी ने बाढ़ के बहाने फोन कर जेडीयू अध्यक्ष नीतीश को मनाने की कोशिश की है.  

बता दें कि बिहार में बाढ़ की स्थिति गंभीर बनी हुई है. राज्य में बाढ़ से 13 जिलों में 88 लाख लोग प्रभावित हुए हैं. राज्य आपदा प्रबंधन विभाग ने यह जानकारी दी.  हालांकि, मृतकों की संख्या में लगातार तीसरे दिन कोई बढ़ोत्तरी नहीं हुई. बाढ़ से अब तक लगभग 127 लोगों की मौतें हुई हैं.    राज्य आपदा प्रबंधन विभाग के मुताबिक आपदा से 13 जिले प्रभावित हुए हैं. सबसे ज्यादा 37 लोगों की मौत सीतामढ़ी में हई है. वहीं, मधुबनी में 30, अररिया (12), दरभंगा (12), शिवहर (10), पूर्णियां (नौ), किशनगंज (सात),मुजफ्फरपुर (चार), सुपौल (तीन), पूर्वी चंपारण (दो) और सहरसा में एक व्यक्ति की मौत हुई है.    बाढ़ प्रभावित दो जिलों- कटिहार और पश्चिमी चंपारण से अब तक किसी की मौत की सूचना नहीं मिली है.  आपदा प्रबंधन विभाग ने कहा है कि राज्य में 13 जिलों की 1,269 पंचायतों के 111 प्रखंडों में 88.46 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं. जल संसाधन विभाग के मुताबिक, पांच नदियां – बागमती, बूढी गंडक, कमला बलान, अधवारा और खिरोई नदी राज्य में नौ स्थानों पर खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं. मौसम विभाग के पूर्वानुमान मुताबिक अगले 24 घंटे में बिहार की सभी नदियों के जलग्रहण क्षेत्र में हल्की से सामान्य बारिश होने की संभावना है.  

About Surkanda Samachar

View all posts by Surkanda Samachar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *